BusinessHome

मंत्रिमंडल ने दिसंबर 2019 से एक वर्ष की अवधि के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों द्वारा इथेनॉल खरीद के लिए आपूर्ति करने हेतु इथेनॉल मूल्‍य में पुनरीक्षण व्‍यवस्‍था को मंजूरी दी

Spread the love
प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल कीआर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने 1 दिसंबर, 2019 से 30 नवंबर, 2020 तक इथेनॉल आपूर्ति वर्ष के दौरान आगामी चीनी उत्‍पादन मौसम 2019-20 के लिए ईपीबी कार्यक्रम के अंतर्गत विभिन्‍न कच्‍चे मालों से निर्मित इथेनॉल की ऊंची कीमत तय करने समेत निम्‍न को मंजूरी दी है:-
  1. सी हेवी मोलेस तरीके से प्राप्‍त इथेनॉल की कीमत 43.46 रूपये प्रतिलीटर से बढ़कर 43.75 रूपये प्रतिलीटर होगी।
  2. बी हेवी मोलेस तरीके से प्राप्‍त इथेनॉल की कीमत 52.43 रूपये प्रतिलीटर से बढ़कर 54.27 रूपये प्रतिलीटर होगी।
  3. गन्‍ना रस/चीनी/चीनी सिरप तरीके से प्राप्‍त इथेनॉल की कीमत 59.48 रूपये प्रतिलीटर तय की गई है।
  4. इसके अलावा जीएसटी और परिवहन शुल्‍क भी देय होंगे। तेल कंपनियों को वास्‍तविक परिवहन शुल्‍क तय करने का सुझाव दिया गया है, ताकि इथेनॉल का लंबी दूरी तक परिवहन हतोत्‍साहित न हो।
  5. तेल कंपनियों को इथेनॉल के लिए निम्‍न प्राथमिकता के साथआपूर्तिजारी रखने की सलाह दी गई है- 1) गन्‍ना रस/चीनी/चीनीसिरप2) बी हेवी मोलेस3) सी हेवी मोलेस और 4) खराब खाद्यान्‍न/अन्‍य स्रोत।
  6. सभीडिस्टिलरी इस योजना का लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं और डिस्टिलरियों की बड़ी संख्‍या ईबीपी कार्यक्रम के लिए इथेनॉल की आपूर्ति कर सकती है। इथेनॉल आपूर्तिकर्ताओं को लाभकारी कीमत मिलने से गन्‍ना किसानों की बकाया राशि को कम करने में मदद मिलेगी। यह प्रक्रिया गन्‍ना किसानों की समस्‍या को कम करने में योगदान देगी। 

Related Articles

Close