BusinessHomeIndiaNewsPoliticsTop News

चलिए आपको बताते हैं कि बजट 2019 पर किसने क्या कहा-

Spread the love

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के दूसरे कार्यकाल का बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश कर दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बजट को ग्रीन बजट का नाम दिया है. वित्‍त मंत्री ने सुबह 11 बजे अपना बजट भाषण पढ़ना शुरू किया. जिसके बाद अब इस बजट को लेकर अन्य राजनीतिक दलों की प्रतिक्रिया भी आनी शुरू हो गई है. जहां भाजपा ने इस बजट को किसानों, आम आदमी, महिलाओं और रोजगार के लिहाज से हिट बजट बताया है तो वहीं विपक्ष ने इस बजट को भी ‘निराशाजनक’ करार दिया है. चलिए आपको बताते हैं कि बजट 2019 पर किसने क्या कहा-

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा : गरीबों को बल मिलेगा जबकि युवाओ को बेहतर कल मिलेगा

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा लोकसभा में पेश बजट पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि ये बजट उद्यम और उद्यमों को मजबूत बनाएगा, देश में महिलाओं की भागीदारी को और बढ़ाएगा. इससे गरीबों को बल मिलेगा जबकि युवाओ को बेहतर कल मिलेगा. पीएम ने कहा कि इस बजट से मध्यम वर्ग को प्रगति मिलेगी, विकास की रफ्तार को गति मिलेगी, सरकार ने गरीब-किसान-दलित-पीड़ित-शोषित-वंचित को सशक्त करने के लिए, Empower करने के लिए चौतरफा कदम उठाए हैं .

पीएम ने कहा कि इसमें क्रेडिट को बढ़ावा दिए जाने के लिए सरकारी बैंकों को 70 हजार करोड़ रुपये और मुहैया कराए जाने का प्रस्ताव है। बैंकिग सेक्टर में सरकार की तरफ से किए गए सुधारों का अच्छा नतीजा देखने को मिला है और बैंकों का NPA एक लाख करोड़ रुपये कम हो गया है.  उन्होंने कहा कि इस बजट पर वे काशी में शनिवार को विस्तार से बोलेंगे .

भाजपा नेता सुषमा स्वराज ने कहा :

प्रधान मंत्री जी और वित्त मंत्री जी को बहुत बहुत बधाई । आज संसद में पेश किया गया बजट भारत के अभूतपूर्व विकास विशेष तौर पर महिलाओं के उत्थान और युवाओं को स्वरोजगार प्रदान करने की दिशा में बहुत उपयोगी साबित होगा ।

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘यह बजट देश के लोगों की अपेक्षाओं और आकांक्षाओं की पूर्ति करने वाला है. 1 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनने में हमें 55 साल लग गए, लेकिन हम इसी साल 3 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था हो जाएंगे.’ मथुरा से सांसद हेमा मालिनी ने महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट पेश करने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि ‘नारी नारायणी है. अगर यह हमारे देश में लोग समझ लें तो ये जो हिंसा हो रही है महिलाओं के प्रति, वह खत्म हो जाएगी.’

 

स्मृति ईरानी ने कहा कि ‘पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री का अभिनन्दन करना चाहती हूं. ग्रामीण महिलाओं के लिए ओवरड्राफ्ट और 1 लाख के लोन की सुविधा दी ये अच्छा कदम है. मिडिल क्लास को रियायत दी गई और जो सरकार ने टैक्स PAYER का जो अभिनन्दन किया वो प्रशंसनीय है. मजबूत राष्ट्र के लिए मजबूत आधारशिला है.’

ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर नितिन गडकरी ने कहा कि ‘नए भारत के निर्माण के लिए बजट है ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर के नाते मुझे ख़ुशी है की इस बार इलेक्ट्रिॉक वाहनों के लिए ड्यूटी 5 परसेंट पर लाई है और इस कारण देश में इलेक्ट्रिॉक व्हीकल का निर्माण बढ़ेगा और इसके निर्माण में हम दुनिया में प्रथम नंबर पर जायेंगे.’

 

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा :

#Budget2019 ‘गाँव,ग़रीब व किसान’ हाशिये पर। क्या थोथे शब्दों से कृषि संकट हल होगा? न किसान की आय दुगनी करने का रास्ता, न न्यूनतम समर्थन मूल्य(MSP) का वादा, न अकाल-सूखे से लड़ने का कोई उपाय, न ग्रामीण अर्थव्यवस्था में संकट का सुधार। केवल डीज़ल पर ₹2 का अतिरिक्त भार।

मात्र दो साल (2017-18 से 2019-2020) में महिलाओं से सम्बंधित योजनाओं के बजट में ₹2000 करोड़ से ज्यादा की कटौती की गई। #Budget2019 के जरिए भारत को देश में महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए पर्याप्त संसाधनों और सटीक योजना की जरूरत है।

भारी जल संकट और सूखे के बीच पिछले 4 साल के दौरान सिंचाई के बजट में ₹433 करोड़ की कटौती के कारण किसान आत्महत्याओं और कर्जे में वृद्धि हुई है। #Budget2019 के जरिए किसानों को कर्जे के जाल से मुक्ति दिलाने के लिए ठोस कृषि नीति की जरूरत है।

भाजपा महा सचिव कैलाश विजय वर्गीय ने कहा  :

अब 2 से 5 करोड़ रुपये सालाना कमाने वालों को 3 फीसदी ज्यादा टैक्स देना होगा। इसके अलावा 5 करोड़ रुपये से ज्यादा सालाना आमदनी वालों को 7 फीसदी ज्यादा टैक्स देना होगा. 5 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था तक पहुंचने के हमारे मुख्य बिंदू हैं- 1. बुनियादी ढांचे में भारी निवेश 2. डिजिटल अर्थव्यवस्था 3. रोज़गार निर्माण और लोगों की आशा, विश्वास और आकांक्षाएं. 2 अक्टूबर 2014 के बाद से अब तक देश में 9.6 करोड़ शौचालयों का निर्माण किया गया है। देश के 5.6 लाख गांव आज खुले से शौच से मुक्त घोषित हो चुके हैं। स्वच्छ भारत अभियान के विस्तार के लिए हमारी सरकार पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है.

कांग्रेस संसद शशि थरूर ने कहा :

इस बजट में आम आदमी के लिए कुछ भी नहीं है. अब लोगों को पेट्रोल व दिह्ज्ल पर दो रु प्रति लीटर अधिक देने होंगे .

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेडा ने कहा :

हम बचत पर ब्याज दरों में कटौती को वापस लेने की मांग करते हैं। ये मांग हम संसद में भी उठाएंगे भाजपा सरकार ने घरेलू बचत पर मिलने वाले ब्याज की दरों में कटौती करके मध्यम वर्ग और ईमानदार करदाताओं के साथ खिलवाड़ किया है. मई 2014 में कांग्रेस सरकार के समय एक/दो साल की बचत पर 8.4% ब्याज था, जो वर्तमान में 6.9% पर आ गया। पाँच साल की बचत पर ये 8.5% था, जो अभी 7.7% पर आ गया। वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में 9.2% दिया जाता था, जो 8.6% पर आ गया। NSC पर 8.5% था, जो आज 7.9% पर आ गया

 

Tags

Related Articles

Close