bloggedCultureEntertainmentexplorefestivalshappeningHomeIndiaLifestyle
Trending

स्पिक मैके के सातवें इंटरनेशनल कन्वेंशन का आयोजन 3 जून से

Spread the love

दिल्ली । देशव्यापी सांस्कृतिक आंदोलन में संलग्न सोसाइटी फ़ॉर प्रमोशन ऑफ इंडियन क्लासिकल म्यूजिक एंड कल्चर अमंगस्ट यूथ ( स्पिक मैके ) 3 जून से 9 जून तक अपने 7 वें अन्तर्राष्ट्रीय समागम का आयोजन जवाहरलाल विश्वविद्यालय दिल्ली में आयोजित कर रही है । देश विदेश लगभग 1500 प्रतिभागी पद्मविभूषण, पद्मभूषण,पद्मश्री तथा अन्य सम्मानों से अलंकृत देश के सर्वश्रेष्ठ कलाकारों की कला का साक्षात् अनुभव कर पायेंगे । इस अवसर पर उन्हें उन्हें विभिन्न कलाओं को सीखने का अवसर भी मिलेगा ।
विगत चार दशकों से शास्त्रीय संगीत,नृत्य,लोकसंगीत,शिल्प,योग,रंगमंच,सार्थक सिनेमा आदि के प्रतिवर्ष हज़ारों कार्यक्रम आयोजित कर रही स्वयंसेवी संस्था स्पिक मैके जवाहरलाल विश्वविद्यालय के स्वर्णजयंती वर्ष में अपने 7 वां समागम देश विदेश के युवाओं के समक्ष भारत के सांस्कृतिक वैभव की दुर्लभ छटा प्रस्तुत करेगी । इस अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन मे भारत और विदेश के युवाओं को एक सप्ताह आश्रम जैसे माहौल मे समय बितायेगें ।
इस वर्ष के सम्मेलन में भारत और विदेश के लगभग 1500 युवा प्रतिनिधि भाग लेंगे। भारतीय शास्त्रीय संगीत – कर्नाटक और हिंदुस्तानी, शास्त्रीय नृत्य प्रदर्शन, लोक प्रदर्शन, प्रख्यात लेखकों और चित्रकारों द्वारा वार्ता के साथ एक सिनेमा, हेरिटेज वॉक, शास्त्रीय संगीत, लोक कला और शिल्प,योग,सिनेमा स्क्रीनिंग, के साथ विभिन्न कार्यक्रम का हिस्सा लेगें। सम्मेलन के समापन के दिन ‘क्लासिकल ओवरनाइट संगीत कार्यक्रम रात 8 बजे से अगले दिन सुबह 6 बजे समाप्त होगा।

सम्मेलन में भाग लेने वाले कुछ प्रसिद्ध कलाकार हैं:
पद्म विभूषण : पंडित हरिप्रसाद चौरसिया, पंडित शिव कुमार शर्मा, उस्ताद अमजद अली खान, विदुषी तीजन बाई
पद्म भूषण : पंडित राजन और पंडित साजन मिश्रा, बेगम परवीन सुल्ताना, विदवान टी वी शंकर नारायणन, डॉ प्रभा अत्रे, श्री श्याम बेनेगल, विदुशी सरोजा वैद्यनाथन
पद्मश्री : विदुषी मालविका सरुक्कई, उस्ताद शाहिद परवेज, उस्ताद राशिद खान, विदुषी ए कन्याकुमारी, गुरु घनकांत बोरा मुक्तियार, उस्ताद वसीफुद्दीन डागर, विदुषी भारती शिवाजी, श्रीमती अंजलि इला मेनन, श्री दादी पुदुमजी, श्री अब्दुलगफुर खत्री, श्री एस शाकिर अली, श्रीमती बौआ देवी
एसएनए पुरस्कार विजेता – उस्ताद बहाउद्दीन मोहिउद्दीन डागर, विदुषी अश्विनी भिडे देशपांडे, लालगुड़ी जी जे आर कृष्णन, वारसी ब्रदर्स

9 योग सत्र (सुबह 4 से सुबह 7 बजे) और कुल 37 इंटेंसिव वर्कशॉप, रोजाना सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक भी आयोजित की जायेगी।
पिछले छः वर्षो मे स्पिक मैके ने आई आई टी खड़गपुर, दिल्ली, बॉम्बे, मद्रास, गुवाहाटी तथा आई आई एम कलकत्ता में छह अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित कर चुका है। 2017 में आई आई टी दिल्ली में आयोजित कन्वेंशन में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने अपने उद्घाटन उद्बोधन में स्पिक मैके की भूमिका का विस्तार में उल्लेख किया था

Related Articles

Close