Politics

देश का युवा समझता है कि राहुल गांधी एवं अरविन्द केजरीवाल दिल्ली में बैठकर देश तोड़ने की साजिश रच रहे हैं-मनोज तिवारी

केजरीवाल जहां संवैधानिक ढांचे की बुनियाद को खोखला करने में लगे हुए हैं वहीं अपने घोषणा पत्र में देशद्रोह की धारा 124-ए को समाप्त करने की घोषणा कर राहुल गांधी ने देशद्रोहियों के साथ अपने रिश्ते पर मुहर लगा दी है-मनोज तिवारी

Spread the love
नई दिल्ली, 03 अप्रैल। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष एवं उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद श्री मनोज तिवारी ने आज अशोक विहार के सत्यवती कालेज के छात्रों को सम्बोधित करते हुये कहा है कि दिल्ली में बैठकर देश तोड़ने का षड्यंत्र देश के लिए चिन्ताजनक है। सत्ता हासिल करने के लिए राहुल गांधी और अरविन्द केजरीवाल ने देश की अखंडता को ही दांव पर लगा दिया है। दिल्ली के जेएनयू में देश के टुकड़े-टुकड़े कर देने की साजिश को समर्थन देने और दुनिया में अपनी फजीहत कराने के बाद कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अब खुलकर देशद्रोहियों के साथ खड़ी नजर आ रही है। केजरीवाल जहां संवैधानिक ढांचे की बुनियाद को खोखला करने में लगे हुए हैं वहीं अपने घोषणा पत्र में देशद्रोह की धारा 124-ए को समाप्त करने की घोषणा कर राहुल गांधी ने देशद्रोहियों के साथ अपने रिश्ते पर मुहर लगा दी है।
श्री मनोज तिवारी ने कहा है कि कांग्रेस ने सत्ता हासिल करने के लिए हमेशा ही देश की एकता और अखंडता के साथ समझौता किया है। आजादी के बाद सत्ता हासिल करने के लिए पंडित जवाहर लाल नेहरू ने देश के दो टुकड़े किये और सत्ता का लालच इस कदर कांग्रेस के सिर पर चढ़कर बोल रहा है कि आज राहुल गांधी उतावलेपन में बार-बार देश को तोड़ने की साजिश करने वालों के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। कभी कांग्रेस के नेताओं को पाकिस्तान भेज कर राष्ट्रवादी श्री नरेन्द्र मोदी सरकार को हटाने के लिए पाकिस्तान की मदद मांगते हैं तो कभी जेएनयू में आतंकवाद का समर्थन करने वालों के साथ खड़े हो जाते हैं उनके नेता नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान की उस सेना के प्रमुख के गले लग जाते हैं जो हर रोज भारत के सैनिकों और कश्मीर के निर्दोष नागरिकों को मौत के घाट उतारने के लिए पीठ पर बार करती है।
श्री मनोज तिवारी ने कहा कि आज देश में श्री नरेन्द्र मोदी की सरकार सबको साथ लेकर सब के विकास के लिए काम कर रही है जिससे अटक से कटक तक कश्मीर से कन्याकुमारी तक देश के 130 करोड़ देशवासी एक जुट होकर देश की अखंडता को मजबूत कर रहे हैं। देश की अखंडता के दुश्मनों की बुनियाद हिल गई है और आज जब देश अपने पैरों पर खड़ा होकर विकास के पथ पर चल पड़ा है, तब आतंकवाद, नक्सलवाद, भ्रष्टाचार को फिर से खड़ा करने के लिए कांग्रेस देश के अंदर देशद्रोहियों की फौज खड़ी करना चाहती है। उन्होंने सवाल खड़ा किया कि कांग्रेस ने आजादी के बाद 70 साल तक संविधान में संशोधन नहीं किया तो आज देशद्रोह की धारा को खत्म करने की क्या जरूरत पड़ी ? यह साबित करता है कि राहुल गांधी और कांग्रेस देश की अखंडता के लिए नहीं देश के टुकड़े-टुकड़े करने की साजिश करने वालों के इशारे पर काम कर रहे हैं और दिल्ली में बैठकर अरविन्द केजरीवाल उनके सुर में सुर मिला रहे हैं। राहुल गांधी और अरविन्द केजरीवाल को न तो दिल्ली की जनता माफ करेगी और न देश के करोड़ों लोग बर्दास्त करेंगे।
Tags

Related Articles

Close